Cricket news 

ऑस्ट्रेलिया दौरे में उमेश का खेलना तय, कप्तान कोहली ने दिए संकेत





हैदराबाद. वेस्टइंडीज के खिलाफ असाधारण प्रदर्शन करने वाले उमेश यादव का ऑस्ट्रेलिया दौरे में भी खेलना तय है। ये संकेत भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने दिए हैं। उनका कहना है कि यह तेज गेंदबाज अगले महीने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दौरे में आखिरी-11 में शामिल होने का तगड़ा दावेदार है।

  1. उमेश दूसरे टेस्ट में 133 रन देकर वेस्टइंडीज के 10 खिलाड़ियों को पवेलियन भेजने में सफल रहे थे। वे ऐसा करने वाले भारत के तीसरे तेज गेंदबाज हैं।

  2. दाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज ने पहली पारी में 88 रन देकर छह और दूसरी पारी में 45 रन खर्च कर चार विकेट झटके थे। इस प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।

  3. कोहली ने कहा, ‘मेरा मानना है कि यह उनके करियर का असाधारण प्रदर्शन है। भविष्य में वे अपने इस प्रदर्शन में और सुधार कर सकते हैं। ऑस्ट्रेलिया में चार टेस्ट काफी मुश्किल हो सकते हैं, क्योंकि कूकाबूरा गेंद वहां परेशानी खड़ी कर सकती है।’

  4. उन्होंने कहा, ‘ऐसे में आपको दिन भर सही लाइन और लेंथ में गेंदबाजी करनी होगी, वह भी रफ्तार के साथ। हालांकि, मुझे लगता है कि उस हिसाब से उमेश ऑस्ट्रेलिया में खेलने के लिए बिल्कुल सटीक है।’

  5. कोहली ने कहा, ‘क्योंकि उनके (उमेश) पास रफ्तार है। उन्हें पूरे दिन गेंदबाजी करने में फिटनेस की कोई समस्या नहीं आएगी। अहम मौकों पर वे विकेट लेने में सक्षम हैं। इसके साथ ही गेंद को अच्छी बाउंस भी करा सकते हैं।’

  6. उमेश, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार और शार्दुल ठाकुर को लेकर विराट ने कहा, ‘निश्चित रूप से, जब सभी चारों 140 की स्पीड से गेंदें फेंक रहे हों और विकेट निकाल रहे हों तो हर कप्तान उन्हें अपनी टीम में रखना चाहेगा।’

  7. विराट ने कहा कि उमेश इसलिए अहम रहे, क्योंकि उन्होंने ऐसे समय उम्दा गेंदबाजी की, जब उन्हें शार्दुल का सहयोग नहीं मिला। शार्दुल डेब्यू टेस्ट में 10 गेंद फेंकने के बादचोटिल हो गए थे। इसके बावजूद उमेश ने उमस भरी गर्मी में करीब 39 ओवर फेंके।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      उमेश यादव ने वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट की पहली पारी में छह विकेट लिए। यह उनका एक पारी में विकेट लेने के मामले में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।


      उमेश ने वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट की दूसरी पारी में चार विकेट लिए।


      विराट ने 42 टेस्ट में टीम इंडिया की कप्तानी की। इसमें से 24 में टीम को जिताने में सफल रहे।


      विराट की कप्तानी टीम इंडिया नौ टेस्ट हार गई, जबकि नौ मुकाबले ड्रॉ पर छूटे।



      Source link

Related posts

Leave a Comment